एसिडिटी और पेट में गैस बनने के कारण लक्षण व घरेलु उपाय

खबरी जी में आपका स्वागत है आज हम अपच के बारे में बात करेंगे! हमने इसके लिए कुछ पाउडर बनाए हैं! लोग गैस से पीड़ित हैं? यह वास्तव में क्या है! और लोग सूजन के बारे में शिकायत करते हैं! वास्तव में हमारी आंत में सूजन है! हमारे पेट में नहीं आंत पर एक गैस्ट्रिक हमला होता है! 

acidity-home-remedies

शरीर में गैस बनने के कारण:-  

जब एक आंत डायाफ्राम को दबाती है! तो हमें सूजन महसूस होती है! कभी-कभी गैस्ट्रिक हमले के लक्षण दिल के दौरे के समान होते हैं! जब हमारी आंत डायफ्राम को छूती है! तो दिल को अधिक दबाव पड़ता है! हालांकि हम इसे दिल के दर्द के रूप में महसूस करते हैं! लेकिन वास्तव में यह एक गैस्ट्रिक अटैक है!

तो गैस्ट्रिक अटैक से कैसे बचा जाए। सबसे पहले हमें उन  चीज़ों  के बारे में जानना होगा! की  गैस कैसे बनाती हैं! च्यूइंग-गम चबाने से गैस्ट्रिक अटैक हो सकता है! और गैस की समस्या पैदा हो सकती है! या जब आप ऊंचाई से पानी पीते हैं! तो आपके शरीर में बहुत सारी हवा चली जाती है! जो गैस के कारणों में से एक हो सकती है! 

तो इससे कैसे बचा जाए ?

इसकी रोकथाम के लिए बहुत से प्रभावी उपाय हैं! जो आप घर पर कर सकते हैं! मुझे एक पाउडर की विधि बताएं, कैरम के बीज गैस्ट्रिक में प्रभावी काम करते हैं! हींग और हरड़ भी इसमें अद्भुत काम करते हैं। तो आइये इसकी रोकथाम के लिए एक पाउडर बनाते हैं! 

विधि:-

50 ग्राम हरड़ लें! यह आपको किसी भी हर्बल उत्पाद की दुकान पर आसानी से मिल जाएगा! 50 ग्राम कैरम बीज भी लें सूखी भुना हुआ! उन्हें 50 ग्राम जीरा बीज भी ले लें! यह अम्लता में भी वास्तव में अच्छी तरह से काम करता है!


जीरा बीज अग्नाशय एंजाइमों के स्राव को बढ़ाता है! यहाँ आपने हरड़, कैरम सीड्स और जीरा बीज लिया है! अब इसमें 25 ग्राम ब्लैक पेपर (काली मिर्च) मिलाएं! 10 ग्राम सेंधा नमक, 10 ग्राम काला नमक और 10 ग्राम हींग मिलाएं! बस सूखी भुना हरड़, कैरम बीज और जीरा बीज केवल 1 मिनट के लिए और इसे ठंडा होने दें! 

लेकिन किसी अन्य घटक को न भूनें! एक बार इसके ठंडा होने के बाद!  इन्हें ग्राइंडर में डालें और रॉक सॉल्ट, ब्लैक सॉल्ट और हींग डालें पीसकर इसका महीन चूर्ण बना लें! आप भोजन से पहले और बाद में इस चूर्ण का सेवन कर सकते हैं! लेकिन इसके पाउडर को सोने से पहले लेना चाहिए! इसकी लत नहीं है! और आपके पाचन के लिए बहुत अच्छा है! 

यह गैस की समस्या को ठीक करने में अत्यधिक सहायक है! क्या होगा यदि आप इस पाउडर को बच्चों को देने की कोशिश करते हैं! तो वे इसे नहीं लेंगे! क्योंकि उन्हें स्वादिष्ट भोजन पसंद है! अब एक दिन बच्चे खाना खाने के बाद पेट में दर्द बताते हैं! तो हम बच्चों के लिए एक पाउडर बनायेंगे! जो वे पेट और गैस्ट्रिक समस्याओं को ठीक करने में मदद कर सकते हैं! 

उस पाउडर को कैसे बनाया जाए:- आप सबसे पहले अजवाइन और काला नमक को बराबर मात्रा में पीसकर पाउडर बना लें पेट दर्द होने पर 3 से 4 ग्राम चूर्ण गुनगुने पानी के साथ लें। इससे पेट दर्द में तुरंत राहत मिलेगी अगर आपको कभी पेट में दर्द होता है तो पाउडर को गुनगुने पानी के साथ खाएं।

यदि आपका पेट स्वस्थ नहीं है! तो शरीर के अन्य अंग कैसे स्वस्थ हो सकते हैं? इसलिए पेट को स्वस्थ रखना महत्वपूर्ण है!
3 बातों का ध्यान रखना चाहिए! कि आप सही समय पर, सही मात्रा में भोजन करें, और संतुलित आहार लें! 

एसिडिटी के कारण क्या हैं? 

अत्यधिक तैलीय और मसालेदार भोजन करना मैदा से बना अत्यधिक भोजन करना! 
हरी सब्जियों का अधिक सेवन करना! अत्यधिक शराब पीना और धूम्रपान करना! 
अनियमित भोजन का सेवन अनियमित नींद कब्ज़ लंबे समय तक भोजन नहीं करना! इससे एसिडिटी हो सकती है! 

एसिडिटी के लक्षण क्या हैं? 

पेट दर्द फूला हुआ पेट महसूस करना! पेट में गैस खट्टी डकारें! पेट में जलन! मतली, उल्टी और भोजन की इच्छा में कमी! (एनोरेक्सिया) 

एसिडिटी से कैसे छुटकारा पाए? 

भोजन करते समय पानी न पियें! रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं1 प्रति दिन 6-7 लीटर पानी पीएं खाना खाने के तुरंत बाद न सोएं! आप कुछ गतिविधि कर सकते हैं! या टहलने जा सकते हैं! संतुलित आहार खाएं सही आहार लें! जंक फूड से बचें! 

एसिडिटी के लिए आयुर्वेदिक उपचार क्या हैं? 

  • तुलसी एसिडिटी को ठीक करने में बहुत मदद करती है! यह पेप्टिक एसिड और पेट में गैस के प्रभाव को रोकने में मदद करता है! इसलिए भोजन करने के बाद अगर आप 4-5 तुलसी के पत्ते चबाते हैं! तो आप एसिडिटी से राहत पा सकते हैं! 
  • सौंफ या सौंफ के बीज भोजन के बाद सौंफ के बीजों को माउथ फ्रेशनर के रूप में उपयोग किया जाता है इसमें फ्लेवोनॉइड एसिड और पामिटिक एसिड होता है! जो अल्सर होने से रोकता है! 
  • लौंग मुंह में लॉंग से उत्पन्न लार पाचन में बहुत मदद करती है फिर हल्के से मुंह में लौंग चबाएं तब आपको जल्द ही आराम मिलेगा! या अगर आप लौंग के 2-3 टुकड़े पानी में उबालें! और इसका सेवन करें! जब यह ठंडा हो जाता है! तो आपको बहुत जल्द एसिडिटी से राहत मिल सकती है!
  • इलायची पाचन में बहुत मदद करती है! और एसिडिटी से राहत देती है! अगर आपको पेट में जलन है! तो आप इलायची खा सकते हैं!  
  • पुदीने की पत्तियां एसिडिटी को कम करने के लिए पुदीने की पत्तियां बहुत मददगार होती हैं! यह पाचन में मदद करता है! और एसिडिटी के कारण पेट दर्द से राहत देता है! यह पेट में गैस को कम करता है! और ठंडक प्रदान करता है! 

इन चीज़ों के सेवन से बचें-

  • अगर आप राजमा चावल के शौकीन हैं और ज्यादातर खाने में इसे ही पसंद करते हैं तो सावधान हो जाइए। राजमा ज्यादा खाना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। खासतौर पर उन लोगों के लिए जो पहले ही एसिडिटी की समस्या से परेशान हैं।

  • वैसे तो मूली सर्दियों में आती है। लेकिन अब बरसात के मौसम में भी ये बाजार में आसानी से मिल जाती है। वहीं अधिकांश हिस्सों में ये पूरे साल भी आसानी से मिल जाती है। ऐसे में कई लोग तो ऐसे हैं जो जिनके खाने में मूली जरूर होती है। अगर आप भी यही करते हैं तो जरा बचके रहें। ऐसा इसलिए क्योंकि मूली पेट में अधिक गैस बनाती है। ऐसे में अगर आप एसिडिटी की समस्या से पहले से ही परेशान हैं तो मूली को रोजाना खाना आपकी सेहत को बिगाड़ सकता है। 

  • कटहल के साथ दाल भरी रोटी और पीठे का कटहल स्वाद में बहुत टेस्टी होता है। यहां तक कि कई लोग कटहल का अचार भी खूब खाते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि कटहल का ज्यादा सेवन एसिडिटी का कारण बन सकता है। कटहल वैसे तो पोषक तत्वों से भरपूर होता है लेकिन शरीर में गैस के उत्पादन को बढ़ाता है। इसलिए एसिडिटी से पीड़ित व्यक्ति को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

  • छोले भटूरे का नाम लेते ही जीभ पर स्वाद हिलोरे मारने लगता है। लेकिन क्या आपको पता है छोले भी एसिडिटी की समस्या को और भी बढ़ा सकते हैं। जिन लोगों को कब्ज होता है उन्हें खासतौर पर छोले नहीं खाना चाहिए।

  • अर्बी भी गैस की समस्या को और बढ़ा सकती है। ये एक बादी सब्जी है जिसे ज्यादा खाने से एसिडिटी हो सकती है। एसिडिटी से पीड़ित लोग वैसे तो इसका सेवन करने से बचें। अगर फिर भी कम खाते हैं तो उसमे अजवायन जरूर डालें। इससे गैस की समस्या में थोड़ी राहत मिलेगी।


आप अन्य घरेलू उपचारों का भी उपयोग कर सकते हैं! एलोवेरा जूस पिएं, गाजर का रस, नारियल पानी, ये पेय पेट की जलन से राहत देता है! एसिडिटी के कारण, लक्षण और घर पर एसिडिटी को ठीक करने के लिए विशेष पोस्ट यहाँ समाप्त होता है!
अधिक घरेलू उपचार के लिए अभी हमें फॉलो करें! और अपने परिवार और दोस्तों के साथ साझा करना न भूलें!
धन्यवाद!