गुर्दे की पथरी के रामबाण घरेलू नुस्ख़े- what kidney stone symptoms

दोस्तों, गुर्दे की पथरी एक खतरनाक गुर्दे की बीमारी है। इसके मुख्य लक्षण रोग में पथरी हो रही है। गुर्दे और आसन्न अंग इस बीमारी के दौरान गुर्दे में तेज दर्द महसूस होना।

यह दर्द असहनीय हो जाता है। कुछ लोग  ये पत्थर नमक के आकार जितने छोटे हो सकते हैं। और गोल्फ की गेंद जितनी बड़ी गुर्दे की पथरी के रूप में माना जाता है। यह खतरनाक बीमारी है क्योंकि ये पत्थर बाधा डालते हैं। गुर्दे की कार्यप्रणाली मे यह गुर्दे की विफलता की स्थिति को जन्म दे सकता है। 

https://www.khabriji.xyz/2020/07/what-kidney-stone-symptoms.html

संभावनाएं ये भी हैं। कि आपकी मूत्र उत्पादन भी प्रभावित हो सकता है। और कई प्रकार के कारण हो सकते हैं। मूत्र प्रणाली में संक्रमण और शरीर के विभिन्न भागों और अंगों में इससे कई चिकित्सीय स्थिति उत्पन्न हो सकती है। जैसे शरीर के कई अंग खराब हो जाना। 

किडनी की बीमारियों का इलाज के कई प्रकारों के बारे में सुना होगा। जो कि गुर्दे की पथरी से राहत दे सकते हैं। लेकिन आइए हम आपको उपचार बताते हैं। जो स्वादिष्ट है और आपके लिए उपयोगी होगा।समस्याओं का मुकाबला करने में। 

गुर्दे की पथरी की समस्या मे यह देखा गया है। कि लोगों को जो कि गुर्दे की पथरी की समस्या से जूझ रहे हैं। उन्के लिये नींबू गुर्दे की पथरी की समस्या को ठीक करने में सहायक है। 

दर्दनाक गुर्दे की पथरी का प्राकृतिक रूप से उपचार करें -

तुलसी-

थोड़ा सा तुलसी का रस जड़ी बूटी तुलसी में ज्ञात यौगिक होते हैं। जो यूरिक एसिड के स्तर को स्थिर करने में मदद करते हैैं। तुलसी में एसिटिक एसिड एक रसायन होता है। जो गुर्दे की पथरी को भंग करने में मदद करने के लिए जाना जाता है। 

नुस्खा- तुलसी के ताजे पत्तों से तुलसी का रस बनाएं। एक ब्लेंडर में ठंडा पानी और कुछ नींबू का रस, 1 चम्मच तुलसी के रस, को एक के साथ मिलाएं। फिर एक चम्मच शहद और इस मिश्रण को मिला लें। 
अब कुछ महीने तक हर दिन पथरी रोकने के लिये एक पाउंड पानी के साथ उबाल कर ठंडा करके पियें।

अजवाइन की चाय-

एक गहरी पैन लें, पानी, दूध, चीनी, अदरक का रस, इलाईची पाउडर और चाय मसाला मिलाएं। इसे धीमी आंच पर तब तक गर्म करें जब तक मिश्रण उबलने न लगे। अब, अजवाईन के बीज डालें और 5 मिनट तक पकाएं। हर दिन गुर्दे की पथरी मे अजवाइन के बीज एक गर्भाशय उत्तेजक है। यदि आप गर्भवती हैं। इस पद्धति का उपयोग न करें पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

लेमन जूस और ऑलिव ऑयल-

बरसों से लेमन जूस और ऑलिव ऑयल को मिलाकर उसका सेवन गॉलब्लेडर के स्टोन के लिए किया जाता रहा है। नींबू के रस में मौजूद सिट्रिक एसिड कैल्शियम बेस वाले स्टोन को तोड़ने का काम करता है। और दोबारा बनने से भी रोकता है। 

अनार-

अनार का जूस और उसके बीज दोनों में ही एस्ट्रीजेंट गुण होता है। जो कि किडनी के स्टोन के इलाज में मददगार है।  

तरबूज -

तरबूज मैग्न‍िशियम, फॉस्फेट्स, कार्बोनेट और कैल्शियम से बने किडनी स्टोन के इलाज के लिए तरबूज एक बहुत अच्छा और कारगर उपाय है। तरबूज में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम मौजूद होता है। जो कि स्वस्थ किडनी के लिए एक प्रमुख तत्व है। 

यूरीन में एसिड लेवल को मेंटेन रखने में मदद करता है। व्हीट ग्रास , व्हीट ग्रास को पानी में उबालकर ठंडा कर लें। इसके नियमित सेवन से किडनी के स्टोन और किडनी से जुड़ी दूसरी बीमारियों में काफी आराम मिलता है। इसमे कुछ मात्रा में नींबू का रस मिलाकर पीना और बहतर हो सकता है।

तो दोस्तों आपको यह जानकारी महत्वपूर्ण लगी तो शेयर ज़रूर करें।

धन्यवाद।

TEAM: KHABRI ji.xyz