कमल ककड़ी की सब्जी और मसूर दाल की कचौड़ी

कमल (lotus) के फूल से तो सभी अच्छी तरह वाकिफ हैं! इतना प्यारा पौधा होता है! कि इसके फूल बहुत खूबसूरत लगते हैं! इसके बीज को मखाने के रूप में इस्तेमाल किया जाता है! और जो उसका तना होता है! वह भी बहुत गुणकारी होता है! और सब्जी और अचार के रूप में और भी कई तरह से प्रयोग किया जाता है।


https://www.jankari.xyz/2021/10/kamal-kakdi.html
Kamal kakdi images


कमल के पेड़ के तने को कमल ककड़ी या लोटस स्टेम कहा जाता है! इसकी सब्जी बहुत स्वादिष्ट बनती है! मुरार antioxidants का भंडार है! इसमें बहुत सारे minerals और ऐसे तत्व पाए जाते हैं! जो Anti Inflammatory होते हैं! जो Blood Pressure को control में रखते हैं! ये औषधीय गुणों का भंडार हैं! चलिए आज हम मुरार की सब्जी बनाने का तरीका जान लेते हैं! 

सामग्री :-

4 कमल ककड़ी
4 टमाटर medium 
दो उबले आलू छोटे टुकड़ों में कटे हुए
एक बड़ा प्याज बारीक size कटा हुआ
अदरक लहसुन का paest
एक चुटकी हींग
दो बड़ी इलायची
दो छोटी इलायची
एक चुटकी जीरा
दो टुकड़े दालचीनी के
दो तेज पत्ते
पिसा धनिया एक चम्मच
पिसी लाल मिर्च आधा चम्मच
पीसी कश्मीरी लाल मिर्च आधा चम्मच
हल्दी आधा चम्मच
गरम मसाला आधा चम्मच
oil  ग्रेवी के लिए   

सबसे पहले मुरार / कमल ककड़ी को लेंगे और उसके गोल गोल छोटे टुकड़े काट लेंगे पतले-पतले। क्योंकि यह भाग पानी में रहता है! इसलिए इन कमल ककड़ी के बीच-बीच में जो छेद होते हैं! उनमें मिट्टी इकठ्ठा हो जाती है! इसलिए इन्हें चार-पांच बार अच्छे से  धो लेना चाहिए!

अब एक अलग बर्तन में पानी उबलने के लिए रख दीजिये! अब इसमें आधा कप दूध डाल देते हैं! और इसमें गोल गोल कटी हुई! कमल ककड़ी / मुरार के टुकड़े डालकर उबालते है! उबलकर कमल ककड़ी का रंग एकदम white हो जाता है! अब ये सॉफ्ट हो जाएगी। इसे एक छन्नी में छान कर रख लेते हैं! और उबला हुए पानी निकल जाने का wait करिये।   

अब grevy बनाने के लिए एक कढ़ाई में एक बड़ा चम्मच तेल डालेंगे! जब oil गर्म हो जाएगा! तो इसमें एक चुटकी जीरा डालकर दो तेज पत्ते दो बड़ी इलायची दो छोटी इलायची और दो टुकड़े दालचीनी डालकर कुछ देर भून लेंगे! अब इसमें अदरक लहसुन का पेस्ट मिलकर, भूनें इसके बाद बारीक कटा प्याज डालकर हल्का गुलाबी होने तक भूनते रहें! ज्यादा नहीं। अब इसमें एकचुटकी हींग डाल दे! 

और आधा चम्मच हल्दी डाल दे! और अब उबली हुई मुरार और उबले हुए कटे आलू डालकर इसे भूनें! अब कटे टमाटर डालकर थोड़ा भूनकर इनमें पिसा धनिया ,लाल मिर्च, कश्मीरी लाल मिर्च डालकर भूनें जितना ज्यादा भूनेंगे! उतनी टेस्टी सब्जी बनेगी जब कमल ककड़ी के टुकड़े और उबले आलू के टुकड़े ग्रेवी में अच्छी तरह भुन जायेंगे! तो इसमें दो कटोरी पानी डाल दीजिये! इसमें थोड़ा सा गरम मसाला डालकर उबालें! और हरे धनिए से इसको सजाएं! कमल ककड़ी को पकने में थोड़ा टाइम ज्यादा लगता है! 10 से 15 मिनट ग्रेवी में पकाने से ये बन जाती है! कमल ककड़ी के कोफ्ते और कमल ककड़ी का अचार भी बनता है। यह सब्ज़ी बहुत अच्छी लगती है!

मसूर दाल की कचौड़ी

अगर शाम में कुछ अनोखा और खूबसूरत व्यंजन अगर बन जाए! तो पति भी खुश हो जाएं। क्योंकि दिल का रास्ता तो पेट से ही होकर जाता है! तो क्यों ना हम कुछ अच्छा बनाकर उस जगह पहुंच जाएं! और उनका प्यार हम पा जाएं तो पूरे दिन की थकान छू मंतर हो जाए! आपका क्या कहना है!

चलिए आज कुछ अलग बनाते हैं! और पति को लुभाते हैं। पूरी कचौड़ी तो हमने बहुत तरह की खाई है! मगर मसूर दाल से नारंगी रंग की रंग बिरंगी कचौरी आज बनाएंगे।

ये कचौड़ी जितनीलज़ीज़ है! उतनी ही स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक साबित होगी। जो बच्चे दाल नहीं खाते उनके शरीर में प्रोटीन की कमी रह जाती है! उसे हम थोड़ा सा इससे दूर कर ही सकते हैं! ये कचौड़ी बच्चों को अपनी तरफ इस तरह आकर्षित करेगी कि वो बार-बार आपसे मांगकर खाएंगे।

* सामग्री

एक कटोरी आटा
एक कटोरी मसूर दाल (सूखा पिसा हुआ मसूर दाल का पाउडर या 5 मिनट पहले भिगोया मसूर दाल का पेस्ट)
चार चम्मच तेल
चार चम्मच सूजी
कटा हुआ धनिया पत्ता
एक छोटा चम्मच अजवाइन
नमक स्वाद अनुसार
दो चुटकी मीठा सोडा
पानी
तलने के लिए तेल या घी

* स्टाफिंग के लिए सामग्री

चार बड़ा चम्मच सत्तू
अजवाइन
बारीक कटी हुई ये सभी सामग्री
धनिया पत्ता
मिर्ची
लहसन
नींबू का रस
नमक
एक चम्मच पानी

चलिए तो फिर शुरुआत करते हैं! और जल्दी से आज सभी महिलाओं के लिए कुछ अलग बनाते हैं। ये इतना ज़्यादा आसान है! कि आपके पति भी आप सबके लिए बना सकते हैं! 

पहले कचौड़ी में भरने के लिए के हेतु, अब सत्तू में सभी सामग्रियों को मिलाकर, उसमें थोड़ा पानी मिलकर उसे अच्छे से हाथों से मिलकर तैयार करके रख लें।

जैसे आप लिट्टी मैं भरने के लिए सामग्री बनाते हैं! लगभग उसी तरह या फिर जिन्हें दूसरे दाल का भरा हुआ, पसंद हो, आप उस तरह से भी इसमें मसाला भर सकते हैं।

अब आती है! असल सामग्री की बारी एक कटोरी गेहूं के आटे में पिसा हुआ, मसूर दाल डालें, उसमें चार चम्मच सूजी, कटा हुआ धनिया, अजवाइन, मीठा सोडा, नमक और फिर तेल डालकर उसे पहले हल्के हाथों से मिलाएं।

थोड़ा-थोड़ा पानी करके उसे हम कर्रा गुंदा हुआ आटे का रूप देंगे। कृपया ध्यान रखें अगर आप पिसा हुआ मसूर दाल का पेस्ट डाल रही हैं! तो कम पानी का इस्तेमाल करें। अब एक तरफ आप थोड़ी मोटी कड़ाही को गर्म होने के लिए रख दें! अब अब थोड़ा गर्म होने पर उसमें भी अपनी पसंद के अनुसार घी या तेल या रिफाइंड डालें! जब वो गर्म हो जाए! तो उसमें एक छोटा सा आटे का टुकरा डालकर देख लें। अगर वो ऊपर की तरफ तैर रहा है तो आपका तेल तलने के लिए तैयार है।

अब अपने हाथों में हल्का सा तेल लगा लें! ताकि आपके हाथ में वो चिपके नहीं। छोटी-छोटी लोई बनाकर उसमें आधा-आधा चम्मच मसाला भरकर उसे बंद करें! और हल्के हल्के हाथों कचौड़ी बनाये। पहले आँच धीमी रखिये ताकि वो अंदर और बाहर से पूरी तरह पककर खस्ता कचौड़ी! बिल्कुल चांद का का रूप ले ले। अब अपने प्यार भरे हाथों से उसे गोल-गोल तलकर निकालें फिर देखें यह कितना स्वादिष्ट बनेगा।

अब अपनी पसंद के अनुसार धनिए की चटनी, चने दाल की चटनी या सॉस जो भी बच्चों या बड़ों को पसंद हो उसके साथ सर्व करिये!

आपको ये नारंगी रंग की रंग बिरंगी कचौड़ी कैसी लगी? मुझे अवश्य कमेंट करके बताइएगा और अपने सुझाव मुझे जरूर दीजिएगा!


Kamal kakdi QnA

kamal kakdi in english

कमल ककड़ी को English में Lotus root कहते हैं। भारतीय लोग इसको सब्जी बनाकर भी इस्तेमाल करते हैं।


kamal kakdi ki sabji 

कमल ककड़ी की सब्जी भारतीय लोग बहुत ही शौक से खाते हैं यह सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट होती है कमल ककड़ी की सब्जी बनाने का पूरा तरीका हमने इस लेख में ऊपर बता दिया है उसे पढ़ें और आप भी बनाए स्वादिष्ट कमल ककड़ी की सब्जी।

kamal kakdi recipe 

कमल ककड़ी की सब्जी बनाने की रेसिपी और पूरा तरीका इस लेख में ऊपर बताया गया है।


what is kamal kakdi

kamal kakdi benefits 

क्योंकि कमल ककड़ी की सब्जी में बहुत सारे विटामिंस पाए जाते हैं यह आपकी शरीर को बहुत सी बीमारियों से बचाते हैं और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ा देते हैं यदि आप इस सब्जी का सेवन करते हैं तो आपको गैस कब्ज जैसी भयंकर समस्याओं से राहत मिलेगी कमल ककड़ी और भी ज्यादा फायदेमंद होती है।


kamal kakdi vegetable 

जी हां कमल ककड़ी एक सब्जी ही होती है और इसे कई तरह से पकाया जाता है एक तरीका हमने इस लेख में आपको बताया है।


kamal kakdi in hindi 

कमल ककड़ी हिंदी का ही एक शब्द है इसको अंग्रेजी में पोटाश रूट कहा जाता है।

Post acchi lagi ho to share karen...

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने