क्या भारतीय सेना से सिखों को बाहर करने के लिए बैठक हुई? जानिए इस वायरल VIDEO का सच

क्या हो रहा है वायरल: पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला गर्माता नजर आ रहा है। अब इस मामले से जोड़कर सोशल मीडिया पर कैबिनेट कमिटी की सुरक्षा बैठक (CCS) का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी, ग्रहमंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और NSA अजीत डोभाल समेत आला अधिकारी नजर आ रहे हैं।


वीडियो में एक अधिकारी को बोलते हुए सुना जा सकता है कि हर एक पंजाबी को निकाल दो। एक बार ये पंजाबी निकल गए तो चीजें बेहतर हो जाएंगी। आर्मी नेशनल डिफेंस से सारे जनरल, सारे सैनिक, टॉप लेवल से बॉटम तक हर एक पंजाबी को निकल दो।

दावा किया जा रहा है कि ये सेना से सिखों को निकालने के लिए कैबिनेट कमिटी की सुरक्षा बैठक बुलाई गई।


और सच क्या है?


वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इसके की-फ्रेम को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें इसका असली वीडियो ANI समेत कई मीडिया प्लेटफार्म पर खबर के साथ मिला।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 8 दिसंबर 2021 को पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट कमिटी की सुरक्षा बैठक हुई थी। तमिलनाडु में हेलिकॉप्टर क्रैश दुर्घटना में CDS बिपिन रावत, उनकी पत्नी समेत 11 अन्य की मौत के बाद दिल्ली में ये बैठक हुई थी।

इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, NSA अजीत डोभाल शामिल हुए थे। इस बैठक में सभी सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखा और सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दी थी।

पड़ताल के अगले चरण में हमने वायरल वीडियो में सुनाई दे रहे ऑडियो से जुड़े की-वर्ड्स सर्च किए। सर्च करने पर हमें इस ऑडियो से जुड़ा एक पोस्ट ALT न्यूज के फाउंडर मोहम्मद जुबेर के अकाउंट पर मिला।

यूजर ने ऑनलाइन क्लब हाउस मीटिंग का एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में वहीं ऑडियो सुना जा सकता है जो वायरल वीडियो में मौजूद है। इससे साफ होता है कि वायरल वीडियो में जो ऑडियो है, वो एडिट कर लगाया गया है।

पड़ताल के दौरान हमें भारत सरकार के PIB फैक्ट चेक पर वायरल वीडियो से जुड़ा एक पोस्ट मिला।

PIB फैक्ट चेक ने वायरल वीडियो को फेक बताते हुए लिखा- एक वायरल वीडियो में दावा किया गया है कि भारतीय सेना से सिखों को हटाने के लिए कैबिनेट कमेटी की सुरक्षा बैठक बुलाई गई। ये दावा फर्जी है।

साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये वीडियो CDS रावत हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद हुई कैबिनेट कमेटी की सुरक्षा बैठक का है। वहीं, वायरल वीडियो में सुनाई दे रहा ऑडियो भी एडिटेड है।
और नया पुराने