लड़कियों के पीरियड के बारे में कुछ अनकहे तथ्य

यदि आपका पीरियड मिस या लेट हुआ है और आप इस गंभीर सोच में हैं की किसी गलती के कारण आप प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई। यदि ऐसा है तो हम आपको यहाँ बता दें की पीरियड मिस या लेट होने के प्रेगनेंसी के अलावा और बहुत से कारण होते हैं। आइये जानते हैं वो कारण, जिसके कारण पीरियड्स में बहुत ज्यादा देरी हो जाती है।


तनाव :- ऐसा आपको गभीर तनाव के कारण भी हो सकता है जिसके कारण मासिक धर्म में बहुत देरी हो जाती है ,वुमन्स हेल्‍थ मैगजीन के अनुसार किसी चीज के बारे में बहुत ज्यादा सोचते हैं तो भी ऐसा हो सकता है।

मेनोपॉज :- आमतौर पर 45 के बाद ही मेनोपॉज होता है लेकिन कभी कभी ये महिलाओ में बहुत जल्दी भी हो जाता है। अगर आप बर्थ-कंट्रोल पिल्स लेती हैं, तो भी मासिक चक्र पूरी तरह गड़बड़ हो सकता है।

पॉलि‌सिसटिक ओवरी सिंड्रोम :- अगर आप पॉलि‌सिसटिक ओवरी सिंड्रोम के शिकार है तो इसमें आपके पीरियड्स रुक सकते हैं कई बार महिलाओं में इसमें छाती और चेहरे पर भी बाल आने लगते हैं।

वज़न का घटना या बढ़ाना :- अगर आपने अपने वज़न को घटा या बढ़ा लिया है तो इससे आपके पीरियड साइकिल में भी बहुत फर्क पड़ सकता है।

थायराइड :- अगर आपको थायराइड है और अचानक वो बढ़ने या घटने लगे तो इससे भी बहुत ज्यादा गड़बड़ हो सकती है।

TOiLeT के वक्त इन बातों का रखें ध्यान –

सामान्यतः यह देखा गया हैं कि आज कल के काम अधिक होने के चक्कर में लोग कहीं देर तक पेशाब रोककर ही बैठे रहते हैं, यानि की उनको इतनी भी फुरसत नहीं हैं कि वह उठकर तत्काल पेशाब करने चले जाए, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पेशाब करते भी कहीं सावधानियां अवश्य बरतनी चाहिए , वरना आपको किसी इंफेक्शन का गहरा सामना करना पड़ सकता है। हमारे शरीर का फंक्शन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है ‘मूत्र विसर्जन’। इस क्रिया से शरीर के सारे विषाक्त निकल जाते हैं।

डिहाइड्रेशन के कारण-

शरीर के लिए पानी बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता हैं, क्योंकि शरीर के हर हिस्से में पानी होता है चाहे वह हड्डी ही क्यों न हो। हमें नियमित रूप से 10 से 12 गिलास पानी पीने की सलाह अवश्य दी जाती है। लेकिन जरूरत के अनुसार यह मात्रा कम या अधिक भी हो सकती है। आप पर्याप्त पानी पी रहे हैं या नहीं इसकी पहचान आप अपने पेशाब के रंग से जा सकते हैं, अगर पेशाब का रंग सामान्य हैं तो आप पानी पर्याप्त मात्रा में ले रहे हैं। लेकिन अगर पेशाब का रंग पीला है और इससे बदबू भी आ रही है तो समझ जायें कि आपके अंदर पानी की बहुत ज्यादा कमी है।

आहार-

हम कभी-कभी ऐसे आहार का सेवन कर लेते हैं जिसके कारण पेशाब से अजीब तरह की बदबू आने लगती है। अधिक मसालेदार खाना हो या फिर खाने में प्याज, लहसुन, आदि का अधिक सेवन करने से से भी पेशाब बहुत ज्यादा बदबूदार हो जाता है। अगर आप एल्कोहल का सेवन करते हैं तो इसकी दुर्गंध आपके पेशाब से आएगी।

यूटीआई –

यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन एक ऐसी गंभीर बीमारी हैं जिसके कारण महिलाओं के पेशाब से अजीब तरह की बदबू आती है। यूटीआई एक तरह का संक्रमण है जो पेशाब की थैली में होता है। यूटीआई होने पर पेशाब से बदबू आती हैं साथ पेशाब में बहुत ज्यादा जलन भी होने लगती है।

डायबिटीज-

मधुमेह ऐसी बीमारी हैं जो एक बार हो जाये तो जीवनभर साथ निभाती है। मधुमेह ब्लड में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होने से होती है। मधुमेह का संकेत देने वाले लक्षणों में से एक लक्षण यह भी है। किडनी से जब अधिक मात्रा में शुगर का स्राव होने लगता है तब बहुत ही अजीब बदबू आने लगती है।

यौन संक्रमण-

एसटीडीज यानी यौन संक्रमण बीमारियां बहुत ही ज्यादा खतरनाक और जानलेवा भी हो सकती हैं। यौन संक्रमित बीमारी का निदान अगर आपके अंदर नहीं हुआ हैं और आपके पेशाब से अजीब बदबू आ रही है तो आपको यौन संक्रामित संक्रमण भी हो सकता है। क्लैमाइडिया यौन संक्रामित बीमारी का एक ऐसा प्रकार है जिसके कारण यूरीन से बदबू आने लगती है। इसके अलावा पेशाब से बदबू आने के दूसरे लक्षण भी हो सकते हैं, इसके लिए आप डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

Post acchi lagi ho to share karen...

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने