इंदिरा गांधी के बारे में अनसुनी बातें – facts about Indira Gandhi

Interesting-Facts-about-Indira-Gandhi"


1. इंदिरा गांधी का पूरा नाम इंदिरा प्रियदर्शिनी गांधी था। उनका जन्म 19 नवंबर 1917 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में एक संपन्न परिवार में हुआ था।
2. उनके पिता का नाम जवाहरलाल नेहरु था जो स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री थे। उनकी माता का नाम कमला नेहरू था। उनके दादा का नाम मोतीलाल नेहरु था।
3. इंदिरा गांधी ने फ़िरोज़ गांधी से विवाह किया एवं राजीव और संजय नामक दो पुत्रों को जन्म दिया।
4. इंदिरा गांधी ने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के पश्चात, शान्तिनिकेतन में रबिन्द्रनाथ टैगोर द्वारा निर्मित विश्व-भारती विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया।
5. उनके साक्षात्कार के समय ही रबिन्द्रनाथ टैगोर ने उनका नाम प्रियदर्शिनी रखा और तभी से वह इंदिरा प्रियदर्शिनी नेहरु के नाम से पहचानी गयीं।
6. आगे शिक्षा ग्रहण करने हेतु वह यूरोप चली गईं। ऐसा कहा जाता है कि वहा उन्होंने अपनी पढाई ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय से पूरी की।
7. इंदिरा गांधी ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय में एशिया की एक आदर्श महिला थीं।
8. वर्ष 1941 में भारत वापस आने के बाद वे भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन में शामिल हो गयीं।
9. 1930 के 'सविनय अवज्ञा' आंदोलन के समय कॉग्रेस के स्वयंसेवको को मदद करने के लिए उन्होंने छोटे बच्चों की ‘वानरसेना’ स्थापित की थी।
10. 1942 में ‘भारत छोड़ो’ आंदोलन में शामिल होने के कारण उन्हें जेल की सजा हुई।
11. इंदिरा गांधी भारत देश की तृतीय प्रधानमंत्री बनीं। वे वर्ष 1966 से 1977 तक लगातार 3 पारी के लिए भारत गणराज्य की प्रधानमंत्री रहीं और उसके बाद चौथी पारी में 1980 से लेकर 31 अक्टूबर 1984 में उनकी हत्या तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं।
12. वे भारत की प्रथम और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रहीं।
13. इंदिरा गांधी ने 1975 से 1977 तक राज्यों में आपातकाल की स्थिति घोषित की और सभी राज्यों में इसे लागू करने का भी आदेश दिया।
14. 31 अक्टूबर, 1984 को उनके अपने अंगरक्षक द्वारा उनकी हत्या कर दी गयी।
15. इंदिरा गांधी को 'लौह महिला' (Iron Lady) के नाम से भी संबोधित किया जाता है।
16. उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए उन्हें 1971 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया।
17. 'भारत रत्न' सम्मान प्राप्त करने वाली वह पहली महिला थीं।
18. इंदिरा गांधी एक ऐसी महिला थीं, जो न केवल भारतीय राजनीति पर छाई रहीं बल्कि विश्व राजनीति के क्षितिज पर भी वह विलक्षण प्रभाव छोड़ गईं।