ये 5 गलतियां करने से आते है भूत, negetive energy kaise aati hai

 


Negative Energy At Home | गलतियां जो घर में बुलाती है भूत-प्रेत 

नेगेटिव एनर्जी, नकरात्‍मक ऊर्जा या बुरी शक्तियां कभी भी घर को घेर सकती है। आप किसी भी पर भी संदेह नहीं कर सकते है कि अचानक से आपके घर पर बुरी शक्तियों का वास कैसे हुआ। क्‍या होती है बुरी नजर या बुरी शक्तियां।

बिना बात के घर में बेचैनी रहती है, घर में आते ही मूड खराब हो जाता है, घर की चीजें जल्दी-जल्दी खराब होती है। पूजा पाठ में मन नहीं लगता है। आपस में तनाव बना रहता है तो आपके घर में negetive energy है। जरुरी नहीं है कि तनाव या कलह के कारण ही घर में नकरात्‍मक शक्ति हो। कभी कभी घर में आत्‍माओं के साये के कारण भी बुरी शक्तियों का वास हो जाता है। आइए जानते है कि आखिर बुरी शक्तियां कैसे और कहां से घर में वास करने लगती है और इसे दूर करने के अचूक उपायों के बारे में जानते है।


गंदगी

जिस घर में हमेशा गंदे कपड़ों का अम्‍बार पड़ा रहता है या जिसके घर में कभी भी साफ सफाई नहीं होती है वहां बुरी शक्तियां या भूत प्रेत जल्‍दी भटकते है।


मिठाई की वजह से भी

अगर कोई आपको मिठाई देता है तो जल्‍दी से खा लें। क्‍योंकि उसे हाथ में लेकर घूमना या किसी सुनसान गली से हाथों में मिठाई लेकर घूमने से बुरी शक्तियां पीछे पीछे आ जाती है।


बिल्लियां

कई घरो के लोगो का शौक होता हैं जानवर पालने का। अगर आप बिल्‍ली पालते है तो कुछ बातों का ध्‍यान रखें। क्‍योंकि बिल्लियों में काली शक्ति ज्‍यादा सक्रिय रहती है। अगर आपके घर मैं कोई बुरा काम करके बिल्‍ली को छोड़ दे तो आपके घर में बुरी शक्तियां प्रवेश कर सकती है।


कहां से आती है बुरी शक्तियां

हालांकि घर में बुरी शक्तियां आने के पीछे कई सारे कारण है।

मनुष्‍य: किसी भी तरह की आत्म-पराजय भावना या किसी चीज के पूरे नहीं होने के बाद निराशावाद, क्रोध, या ईर्ष्या घर में ऐसा एक वातावरण बना सकते है।

आत्मा : अगर किसी इंसान के साथ आप ज्‍यादा देर तक सकारात्‍मक नहीं रह सकते है तो आपके आसपास नकरात्‍मक शक्तियां बनने लगती है।

तकनीक: आधुनिक गैजेट्स की वजह से भी कई बार नकरात्‍मक शक्ति बनने लगती है। जैसे कि घर का कोई न कोई उपकरण खराब ही रहता है।

नेचुरल एनर्जी : हमारे घर और वातावरण के ईदगिर्द कई ऐसी शक्तियां है जो हमें परेशानी में डाल देती है।

वस्‍तु: प्राचीन वस्तुएं या द्वितीय-हाथ वाली वस्तुएं उन लोगों की ऊर्जा को पकड़ सकती हैं जो उनसे कभी जुड़े हुए थे। इस चीज से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि नेगेटिव एनर्जी या बुरी शक्तियां कहां से आ रही है लेकिन कुछ उपायों से इन्‍हें निकाला जा सकता है।


असामान्‍य नेग‍ेटिव एनर्जी

यदि ऐसा है तो यह आपके आसपस मौजूद निगेटिव ऊर्जा का असर हो सकता है। इसके अलावा क्या आपके साथ ऐसा होता है कि दिनभर घर से बाहर रहने पर आप खुश रहते हैं लेकिन घर में प्रवेश करते ही मूड बदल जाता है?

असामान्‍य नकरात्‍मक ऊर्जा घर के आसपास किसी घटना की वजह से मंडराती रहती है। हो सकता है कि वो घर के किसी कोने में बंद हो, इसका मतलब यह नहीं है कि वो शैतानी आत्‍मा है, कभी कभी आप घर में फंसी हुई आत्‍मा के सम्‍पर्क में आते है जो खुद यहां से बाहर निकलना चाहती है। अक्‍सर ऐसी आत्‍माओं के सम्‍पर्क में आने से कमजोर या खराब मूड की समस्‍या से गुजरने लगते है।


इन संकेतों से जाने घर में बुरी शक्तियां हैं..

अचानक से आपको गंदी बदबू आने लगेगी और आपको मालूम भी नहीं चलेगा कि ये बदबू कहां से आ रही है और अचानक से गायब भी हो जाएगी।

आपको अचानक से लगता है कि आप किसी उत्‍पीड़न से गुजर रहे है या आपको कोई घूर घूरकर देख रहा है। आपके अलावा दूसरों को भी कुछ ऐसी चीजें महसूस होने लगती है।

आपकी नींद अचानक किसी आवाज से टूट जाती है।

आपको अचानक घर में रहना डरावना सा लगने लगता है।

आप लगातार बीमार रहने लगे है।

घर में कोई न कोई बीमार रहने लगता है।

negetive energy के कारण घर में सफाई कम, गंदगी ज्यादा रहती है। 

ये भी है कारण..

  • घर में अचानक किसी चीज का गायब हो जाना और फिर वापस मिल जाना
  • घर में अपरिचित चीजों का मिलना
  • घरों की दीवारों पर अजीब से चिन्ह उभरना, खरोंच या भयानक चेहरे के निशानों का उभरना
  • अजीब अजीब सी आवाजें सुनाई देना जैसे दरवाजा खुलने, बंद होने की या फिर पीटने की आवाज, किसी के चलने की आवाज या फिर किसी के हंसने या रोने की आवाज
  • मोबाइल या फोन का काम न करना
  • अचानक बत्तियों का बार-बार जलना-बंद होना या लाइट आते हुए भी काम न करना
  • तुलसी या फूलों का मुरझा जाना


सेग स्टिक से भगाएं असामान्‍य नकरात्‍मक शक्ति को?

जब लगे कि आपका घर बहुत सारी negetive energy की चपेट में आ गया है, तो आपको प्राकृतिक तरीका अपनाना चाहिए। ये एक पुराना उपाय है सेग स्टिक (Sage Stick) ये सारी भूत प्रेत या बुरी शक्तियों का खात्‍मा हो जाएगा। ये उपाय करें।

घर को अच्‍छी तरह से साफ करने के बाद नहा धोकर साफ कपड़े पहन लें। घर के बीचों बीच में एक कटोरी में नमक रखकर भर लें। इसके बाद एक सेग स्टिक को जलाएं।

इन्हें लाकर घर में जलाएं और संभव हो तो इससे उत्पन्न होने वाले धुएं को घर के एक-एक कोने तक लेकर जाएं। ताकि हर कोने से निगेटिव एनर्जी का खात्मा हो सके।

इससे उत्पन्न होने वाला सुगंधित धुंआ घर की negetive energy को खत्म करेगा।

इसके साथ ही यह अपनी खुशबू से घर में सकारात्मक ऊर्जा लाएगा भी। 


इस बात का ध्‍यान रखें

एक बात का ध्यान रहे, कि यह उपाय करते समय घर की खिड़कियां और दरवाजे बंद रखें और एक बारी में कम मात्रा में ही जड़ी-बूटियां जलाएं, ताकि घर के भीतर अधिक धुंआ ना भर जाए। 


नमक का पानी नेगेटिव शक्ति के लिए

नमक में negetive energy और सूक्ष्म कीटाणुओं को खत्म करने की ताकत होती है। इसलिए घर में पोछा लगाते समय समुद्री नमक का इस्तेमाल करें। समुद्री नमक न होने पर आप सामान्य नमक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. पोछा लगाते समय पानी में थोड़ा सा नमक डालने से फर्श के सभी कीटाणु खत्म हो जाएंगे। इससे घर की negetive energy निकल जाती है। वास्तु में नमक वाले पोछे की विशेष उपयोगिता बताई गई है। 


गिलास में नींबू

नकारात्‍मक ऊर्जा को दूर भगाने के लिये एक कांच के गिलास में पानी लें और उसमें एक नींबू डाल दें। अब इस गिलास को घर के उतर की दिशा में रख दे। ध्‍यान रखे कि ये पानी हर इ हर शनिवार नियमपूर्वक बदलें। यह गिलास घर में सुविधानुसार कहीं भी रख सकते हैं। 


घर को बार व्‍यवस्थित करें

अगर आपके घर में नेगेटिव एनर्जी भर गई है तो आपको घर के सभी सामान को पुन: व्यवस्थित करना चाहिए। कम से कम महीने में एक बार। वैसे यह संभव तो नहीं है, क्योंकि भारी फर्नीचर हर महीने नई जगह पर लाना मशक्कत का काम है। लेकिन आप जितनी वस्तुएं हिला सकते हैं, कम से कम उतना जरूर करें। क्योंकि एक ही जगह पर महीनों से पड़ा मेज़ उस जगह को निगेटिव एनर्जी से भर देता है। यदि उसका स्थान बदल दिया जाए तो एक तो उस जगह की negetive energy को बाहर निकलने का रास्ता मिलेगा और दूसरा उस जगह पर नई चीज लाने से सकारात्मक ऊर्जा आएगी। 


करते रहें सफाई

घर में वस्तुओं पर जमा हो रही धूल, जगह-जगह लगे मकड़ी के जाले, काम में ना आ रही बेकार वस्तुएं, जब इनकी सफाई की जाती है तो negetive energy अपने आप ही घर से बाहर चली जाती है।

और नया पुराने