50% तक बढ़ाए आंखों की रोशनी, प्रभावशाली नुस्खे

जैसे की आप जानते है eyes शरीर का सबसे कमजोर हिस्सा है जिसकी देखभाल बेहद जरुरी हैं। आज की जनरेशन कम्प्यूटर और mobiles में का इस्तेमाल कुछ ज्यादा ही करने लगी है ऑफिस में ज्यादा कम्प्यूटर पर काम करने की वजह से आंखों में जलन सी होने लग जाती है। 

और आंखों को बिलकुल भी आराम नहीं देते है। जिससे eyes से जोड़ी बीमारियां भी उत्पन्न हो रही है ।  आपको भी आंखों में जलन, थकान तथा भारीपन रहता है । जानिए ऐसे ही कुछ घरेलू उपाय जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में आपकी सहायता करेंगे...

https://www.khabriji.xyz/2020/12/eye-care-tips-hindi.html
Eye care tips

नाभि navel में तेल डालने के अनोखे फायदे

तो आप कर सकते है ये उपाय –

1. पैर के तलवों पर सरसों के तेल की मालिश करके सोएं. सुबह के समय नंगे पैर हरी घास पर चलें व नियमित रूप से अनुलोम-विलोम प्राणायाम करें.

2. अगर आपकी आंखों में परेशानी है तो दालचीनी वाली चाय पीना भी आपके लिए लाभदायक रहेगा। दालचीनी वाली चाय नसों में आ चुके तनाव को कम करने में सहायक है। इससे आंखों को भी आराम मिलता है।

🟢 एक चने के दाने जितनी फिटकरी को सेंककर सौ ग्राम गुलाबजल में डालकर रख लें. रोजाना रात को सोते समय इस गुलाबजल की चार-पांच बूंद आंखों में डाले. साथ ही, पैर के तलवों पर घी की मालिश करें इससे चश्मे का नंबर कम होना शुरू हो जाएगा.

3. आंवले के पानी से eyes ं धोने से या गुलाबजल डालने से eyes ं स्वस्थ रहती हैं.

4. बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें. रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें.

Diwali special: इस दिवाली पाएं रूखी त्वचा से छुटकारा, 20 मिनट में

5. आंखों के हर प्रकार के रोग जैसे पानी गिरना, eyes ं आना, आंखों की दुर्बलता, आदि होने पर रात को आठ बादाम भिगोकर सुबह पीस कर पानी में मिलाकर पीने से eyes ं स्वस्थ रहती हैं.

6. हल्दी की गांठ को तुअर की दाल में उबालकर, छाया में सुखाकर, पानी में घिसकर सूर्यास्त से पूर्व दिन में दो बार आंख में काजल की तरह लगाने से आंखों की लालिमा दूर होती है.

7. सुबह के समय उठकर बिना कुल्ला किए मुंह की लार अपनी आंखों में काजल की तरह लगातार 6 महीने लगाते रहने पर चश्मे का नंबर कम हो जाता है.

8. कनपटी पर गाय के घी की हल्के हाथ से रोजाना कुछ देर मसाज करने पर आंखों की रोशनी बढ़ती है.

9. त्रिफला चूर्ण को रात्रि में पानी में भिगोकर, सुबह छानकर उस पानी से eyes धोने से नेत्रज्योति बढ़ती है.

10. अगर आपकी आंखों में जलन हो रही है, तो आप गुलाब जल से eyes साफ कर सकते है। रूई के 2 बड़े टुकड़े लीजिए तथा इन्हें गुलाब जब में डुबोकर आंखों पर रखें। इससे आंखों की जलन दूर होगी। अगर आंखों की तकलीफ की वजह से सिर दर्द भी रहता है तो भी ये उपाय लाभदायक रहेगा। इससे सिर दर्द भी दूर होगा।

जीरा है गुणकारी health benefits of cumin 2020

कुछ बेहद प्रभावशाली उपाय-

> बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें. रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें.

> हथेलियों की गर्माहट भी आंखों के लिए लाभदायक है। अगर आपको थकान लग रही है तो दोनों हथेलियों को आपस में रगडऩा चाहिए। इससे हथेलियां गर्म होगी। इससे आंखों की मसाज कीजिए। आराम मिलेगा।

>  सुबह उठकर मुहँ में पानी भरकर आँखें खोलकर साफ पानी के छीटें आँखों में मारने चाहिए इससे आँखों की रौशनी बढ़ती है ।

> प्रातः खाली पेट आधा चम्मच ताजा मक्खन, आधा चम्मच पसी हुई मिश्री और 5 पिसी काली मिर्च मलाकर चाट लें, इसके बाद कच्चे नारीयल की गिरी के 2-3 टुकड़े खूब चबा-चबाकर खाये और ऊपर से थोड़ी सौंफ चबाकर खा लें फिर दो घंटे तक कुछ भी न खाये। यह क्रिया 2-3 माह तक जरूर करिये ।

नीम के फायदे और लाभ - Benefits of Neem

> रात को 1 चम्मच त्रिफला मिट्टी के बर्तन में भिगाकर सुबह छाने हुए पानी से आँखें धोयें। इससे आँखों की रोशनी बढ़ती है और कोई बीमारी भी नहीं होती है।

>  प्रातःकाल सूर्योदय से पहले नियमित रूप से हरी घास पर 15-20 मिनट तक नंगे पैर टहलना चाहए। घास पर ओस की नमी रहती है नंगे पैर इस पर टहलने से आँख को तनाव से राहत मिलती है।और रौशनी भी बढ़ती है ।

> पैरों के तलवे की सरसों के तेल से नियमित मालिश करनी चाहिए । नहाने से 10 मिनट पूर्व पैरों के अंगूठों को सरसों के तेल से तर करने से आँखों की रौशनी लम्बे समय तक कायम रहती है ।

> पालक, पत्ता गोभी, हरी सब्जियाँ और पीले फल खाएं। विटामिन ए, सी और ई से भरपूर कई पीले फल हमारी आंखों के लिए फायदेमंद हैं। इसके अतिरिक्त पपीता, संतरा, नींबू आदि के सेवन से दिन की रोशनी में हमारे देखने की क्षमता बढ़ती हैं।

>  आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए प्रतिदिन 1-2 गाजर खूब चबा-चबाकर खाएँ । गाजर का रस निकालकर भोजन के घंटे भर बाद पिएँ।

एसिडिटी और पेट में गैस बनने के कारण लक्षण व घरेलु उपाय

>  नियमित रूप से अंगूर खाएं, अंगूर के सेवन से रात में देखने की क्षमता बढ़ती है।

>  10 ग्राम छोटी हरी इलाइची , 20 ग्राम सौंफ के मिश्रण को महीन पीस लें। एक चम्मच चूर्ण को दूध के साथ नियमित रूप से पीने से आंखों की ज्योति अवश्य ही बढ़ती है।

>  अनार के 5 से 6 पत्ते को पीस कर दिन में 2 बार लेप करने से दुखती आँख में लाभ होता हे और रौशनी भी बढ़ती है ।

>  300 ग्राम सौंफ को अच्छे से साफ करके कांच के बर्तन में रख ले अब बदाम और गाजर के रस से सौंफ को तीन बार भगोएँ जब सुख जाए तो इसे रोज रात दूध के साथ लें इससे भी आँखों की रोशनी बढ़ती है ।

> सूखें आँवले को रात में पानी में अच्छी तरह धोकर भिगो दें फिर दिन में 3 बार इसे रुई से आँखों में डालें और आँवले का ज्यादा ज्यादा किसी ना किसी रूप में अपने खाने / पीने में अवश्य ही प्रयोग करें। 3 माह के अंदर ही चश्मा उतर जायेगा ।

गुर्दे की पथरी के रामबाण घरेलू नुस्ख़े- what kidney stone symptoms

> एक चम्मच त्रिफला चूर्ण, एक चम्मच शहद और 2 चम्मच गाय के घी को आपस में मिलाकर नित्य रात को सोने से पहले चाट लें । इससे आँखों के रोग दूर रहते है , आँखों की रौशनी बढ़ती है और शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है । ( ध्यान रहे कि घी और शहद बराबर मात्रा में ना हो )

>  एक चम्मच मुलेठी का पाउडर , एक चम्मच शहद और आधा चम्मच देसी घी इन तीनो को मिलाकर एक गिलास गर्म दूध के साथ सुबह शाम लगातार 3 माह तक लेने से नेत्रों की पड़ने की रौशनी बहुत बड़ जाती है।

> प्रतिदिन भोजन के साथ 50 से 100 ग्राम मात्रा में पत्तागोभी के पत्तों का सलाद बारीक कतर कर, इन पर पिसा हुआ सेंधा नमक और काली मिर्च डालकर खूब चबा-चबाकर खाएँ।

>  आंखों की स्वस्थ्यता के लिए अच्छी नींद जरूरी है, नहीं तो आंखों के नीचे काला घेरा पड़ जाता है और रोशनी भी कम होती है।

>  जब आँख भारी होने लगे नींद का समय हो जाए तब जागना उचित नहीं। सूर्योदय के बाद सोये रहने, दिन में सोने और रात में देर तक जागने से आँख पर बुरा प्रभाव पड़ता है और धीरे-धीरे आँखे रुखी और बेजान होने लगती है।

सहजन का सेवन करने से होते हैं, ये 7 चमत्कारी फायदे

> लगातार, बिस्तर पर लेट कर और यात्रा के दौरान पढ़ना नहीं चाहिए। पढ़ाई के समय आंखों को पर्याप्त विश्राम दें। अतिरिक्त सूर्य की और भी टकटकी लगाकर नहीं देखना चाहिए।

> आंखों की रोशनी तेज करने के लिए अपनी डाइट में प्याज और लहसुन को जरूर शामिल करें। इनमें सल्फर होता है जो आंखों के लिए ग्लूटाथाइन नामक एंटीऑक्सीडेंट तैयार करता है, जिससे नेत्रों की ज्योति बढ़ती है ।

>  लगातार टीवी देखने से आंखों की ज्योति घटती है क्योंकि टीवी से निकलने वाली घातक किरणे हमारी आँखों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुँचती है। कभी भी बहुत पास या बहुत दूर और लेटकर भी टीवी नहीं देखना चाहिए ।

> आँखों से चश्मा हटाने के लिए अपनी आँखों के आस पास अखरोट के तेल की मालिश करें इससे आँखों की रौशनी तेज होती है और आँखों से चश्मा भी उतर जाता है । यह बहुत ही आसान किन्तु अचूक उपाय है ।

बालों की हर समस्या से निजात दिलाएंगे, ये नुस्खे

> नज़र तेज करने के लिए एक कटोरी में एक चाय का चम्मच गाय का घी लेकर उसमें 1 / 4 चम्मच काली मिर्च का पाउडर मिलाएं। इसका नित्य प्रात: सेवन करने से आँखों की रौशनी तेज होती है ।

> त्रिफला के क्वाथ से रोजाना आंखों को धोने से नेत्र रोग दूर होते हंै। त्रिफला क्वाथ को शहद या घी के साथ लेने से भी नेत्र रोगों में लाभ होता है। त्रिफला चूर्ण को एक भाग घी व तीन भाग शहद के साथ लेने से लाभ होता है।

> रोजाना एक चम्मच शहद खाने से भी आंखों की रोशनी दुरूस्त रहती है। लेकिन ध्यान रहे कि शहद शुद्ध हो।

> सुश्रुत संहिता के अनुसार रतौंधी यानी रात के अंधेपन के लिए अगस्त्य वृक्ष के फूल उपयोगी होते हैं। इन फूलों को पानी में भिगो दें कुछ देर बाद इन्हें मसलकर बंद आंखों पर रखें।

> पांव के तलवों की रोजाना मालिश करने से भी आंखों की रोशनी बढ़ती है। इसके लिए नारियल तेल या तिल का तेल फायदेमंद होता है।

>  तला हुआ भोजन आंखों को नुकसान पहुंचाता है, जबकि दूध में पका हुआ अन्न आंखों के लिए लाभकारी होता है। ठंडी खीर में शहद मिलाकर सुबह-सुबह खाने से आंखों की रोशनी दुरूस्त रहती है।

सिर दर्द के प्रकार, लक्षण व घरेलू उपचार

> आंखों को सेहतमंद बनाए रखने के लिए देर रात भोजन करने से बचें और गरिष्ठ भोजन से भी परहेज करें।

> मूंग की दाल भी नेत्र ज्योति को स्वस्थ बनाए रखती है।

> शुद्ध घी को लोहे के बर्तन में रखना चाहिए। इस घी के प्रयोग से आंखों की रोशनी बनी रहती है। पुराने लेकिन शुद्ध घी की दो-दो बूंदें नाक में डालने से भी लाभ होता है।

Yaddasht badhane ke gharelu nuskhe

साथ ही डॉक्टर से भी जरूर सलाह जरूर ले।

बहुत सारी दवाईयों और डॉक्टरों के इलाज के बाद भी अगर बीमार आंखों के इलाज का सही तरीका नहीं मिल रहा है तो रोजाना योग करें। योग के इन आसनों की मदद से आंखों की सारी परेशानियों से निजात मिल जाएगी।

सबसे पहले दोनों हाथों को सामने की तरफ कर के गर्दन को सीधे रखें। गर्दन को सीध में रखते हुए हाथों के अंगूठों के नोक को दोनों आंखों को घुमाते हुए देखें। इसके बाद एक हाथ को नीचे की तरफ और दूसरे हाथ को ऊपर की तरफ रखें। अब गर्दन को एक सीध में रखते हुए नजरों को घुमाते हुए एक बार ऊपर वाले हाथ को देखे फिर नीचे वाले हाथ को देखें। ऐसा करीब दस से बारह बार करें।

मेथी दाना खाने के फायदे - methi dana khane ke fayde

आंखों की दूसरी एक्सरसाइज में चारों ओर देखें। एक बार ऊपर फिर नीचे फिर दांए और बांए। इस एक्सरसाइज को करते हुए हल्की सांस लेते रहें। इसके अलावा गर्दन को एक सीध में रखते हुए एक बार ऊपर और एक बार नीचे की ओर देखे। इस तरह से ये कसरत करीब दस से बारह बार करें।

ध्यान रहें नजरों की तकलीफ होने पर शीर्षासन या पेट के बल करने वाली एक्सरसाइज न करें। अगली एक्सरसाइज में करीब पचास से सौ बार पलकों को झपकाएं और उसके तुरंत बाद दोनों हाथों की हथेलियों को रगड़कर आंखों पर रखें। 

इसके बाद दोनों हाथों की अंगुलियों को आंखों पर रखकर कुछ देर बैठे। ये क्रिया पांच से सात बार करें। और एक बार फिर से हथेलियों को रगड़कर आंखों पर रखें।

खजूर, एक बेमिसाल औषधि Health Benefits Of Dates

Thanks...